Blogbamba
msg placeholder Retry Now
msg placeholder
Publishing Comment () Sec
STOP
Edit Blog?
If you edit your live blog it will reset all the matrices.
Delete Blog?
This actions cannot be undone.
Edit Blog?
If you edit your live blog it will reset all the matrices.
Delete Blog?
This actions cannot be undone.
Motivational
था..।  उसने चिलम का आकार दिया..। थोड़ी देर में उसने चिलम को बिगाड़ दिया...। माटी ने पूछा -: अरे कुम्हार, तुमने चिलम अच्छी बनाई फिर बिगाड़ क्यों दिया.?
Gauravstory
1 min read

एक कुम्हार माटी से चिलम बनाने जा रहा

था..। उसने चिलम का आकार दिया..। थोड़ी देर में उसने चिलम को बिगाड़ दिया...। माटी ने पूछा -: अरे कुम्हार, तुमने चिलम अच्छी बनाई फिर बिगाड़ क्यों दिया.?

कुम्हार ने कहा कि : अरी माटी, पहले मैं चिलम बनाने की सोच रहा था, किन्तु मेरी मति (दिमाग) बदली और अब मैं सुराही बनाऊंगा, ये सुनकर माटी बोली : रे कुम्हार, मुझे खुशी है, तेरी तो सिर्फ मति ही बदली, मेरी तो जिंदगी ही बदल गयी.।

चिलम बनती तो स्वयं भी जलती और दूसरों को भी जलाती, अब सुराही बनूँगी तो स्वयं भी शीतल रहूंगी और दूसरों को भी शीतल रखूंगी...।

"यदि जीवन में हम सभी सही फैसला लें तो हम स्वयं भी खुश रहेंगे एवं दूसरों को भी खुशियाँ दे सकेंगे।

Gauravstory
0
@gauravlkr5
More From Gauravstory
Comments ()
0
Most Liked
  • Most Liked
  • Most Recent
Delete This Reply?
This actions cannot be undone.
Delete This Comment?
This actions cannot be undone.
msg placeholder
msg placeholder